Tuesday, March 17, 2009

एक कहावत बिहार की

होम करते हाथ जले
होम का उद्दयेश लाभ से है। अगर होम करते वक्त किसी व्यक्ति का हाथ जल जाए तो पुण्य लाभ की जगह उसे परेशानी या मुसीबत का सामना करना पड़ जाता है।
यानि भलाई का काम करने पर परिणाम अगर बुरा मिले तो इस कहावत का इस्तेमाल किया जाता है।

6 विचार आए:

आलोक सिंह said...

काम तो भले के लिए कर रहे थे पर हो गया उल्टा . होम करने का मतलब है यज्ञ में आहुति देना.

सिद्धार्थ जोशी Sidharth Joshi said...

पता नहीं क्‍यों कई बार ऐसा लगता है कि जो नई कहावत आई है वह मेरे लिए लिखी गई है। :)

सतीश चंद्र सत्यार्थी said...

बहुत खूब

राजीव जैन Rajeev Jain said...

gud

राज भाटिय़ा said...

बहुत ही सही कहावत है, धन्यवाद

imnindian said...

sidharth ji muft me agr kisi ki sahayta karege to yahi hoga, par fees lekar karege to banda kahe ga :yaar apna bhgya hi kharab tha varna advice denewala to sajjan purush tha.
Madhavi Shree

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates