Monday, March 2, 2009

एक कहावत

दूर का ढोल सुहाना लगे है ।
अग्रेजी में इसे ही कहते है " द ग्रास इस ग्रीन अल्वाय्स ओन द अदर साइड " यानि कि कोई भी चीज दूर से बहुत अच्छी लगती है। पर पास जाने पर उसकी खामिया हमें दिखायी पड़ने लगती है।

7 विचार आए:

seema gupta said...

" यानि कि कोई भी चीज दूर से बहुत अच्छी लगती है। पर पास जाने पर उसकी खामिया हमें दिखायी पड़ने लगती है।
" bilkul sach hai ..."

Regards

आलोक सिंह said...

प्रणाम
एकदम सत्य वचन . जो नहीं होता वो अच्छा लगता है और जो होता है वो बेकार दिखता है .

सिद्धार्थ जोशी Sidharth Joshi said...

साथियों पहली बात यह कि आईएमइंडियन वास्‍तव में माधवीजी हैं दिल्‍ली से। जो पूरे जोश खरोश से इस ब्‍लॉग पर लिख रही हैं और इसे इतना सुंदर बनाने में सहयोग कर रही हैं।

अब माधवीजी से, सुंदर कहावत। आभार।

रंजना [रंजू भाटिया] said...

यह कहावत बहुत सही बात ब्यान करती है ..

Udan Tashtari said...

सही कहावत!

imnindian said...

par siddharth ji ,asli dhanyawad apko, kyo ki site apne pehle banayee thi , vichar aap ke man me pehle aaya. hum to bas karwa se judte gaye.
Madhavi

राज भाटिय़ा said...

बिलकुल सही.
धन्यवाद

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates