Saturday, May 1, 2010

1 विचार आए
 हर्र लगे ना फटकारी रंग चोखा होय !
तात्पर्य -- यह कहावत मितव्ययता प्रदर्शित करती है , काम संशाधनो का प्रयोग करके उत्तम फल प्राप्त करना !
 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates