Wednesday, January 18, 2012

खंगार की जाति

5विचार आए
"भोंर मछों और खंगार की जात सोतन  बधियो आधी रात "
भावार्थ ;- शहद की बड़ी मधुमक्खी और खंगार जाति के  व्यक्ति बड़े ही खतरनाक होते हैं इसलिए उनका बध आधी रात के समय जब वे सोये हुए हो तब करना चाहिए ! इस कहावत में खंगार वीरों से शत्रुओं में ब्याप्त भय का बोध होता है ........
 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates