Monday, October 20, 2008

खसम को रोटी तुम पै देओ

4विचार आए
बातें-चीतें हमसे लेओ,
खसम को रोटी तुम पै देओ।
===============================
खसम = पति
पै = बनाना
बातें-चीतें = बातचीत, गपशप
===================================
बुंदेलखंड में ये कहावत ऐसे लोगों के लिए प्रयुक्त होती है जो काम की अपेक्षा बातों में अपना अधिक समय लगाते हैं.

Sunday, October 12, 2008

स्वर्गीया भारती सराफ: जन्म दिवस १४ अक्टूबर पर श्रद्धांजलियां

2विचार आए

" भारती सराफ " उभरती नृत्य साधिका " जो शरदोत्सव की शुरुआत करतीं थी : इस बार उनके बिना होगी शुरुआत"
वे कम उम्र में जबलपुर की सर्वाधिक
" कोरीओग्राफ़र '" थीं ........

Sunday, October 5, 2008

रोई रो फूल

9विचार आए
रूप रूड़ो गुण बाइड़ो
रूईड़े रो फूल


रूड़ो : सुन्दर
बाइड़ो: कड़वा या असुंदर
रूइड़ो : जंगल

जंगल में खिलने वाला फूल सुंदर तो होता है लेकिन उसमें खुशबू या अन्य कोई गुण नहीं होता।

इसके लिए उदाहरण ले सकते हैं कि बिना पढ़ा लिखा सुंदर आदमी, बिना एटीट्यूड की खूबसूरत महिला, यानि सहयोगी गुण के बिना किसी एक गुण का विकसित होना। ऐसे नितांत गुण का कोई उपयोग नहीं होता।

(यह कहावत मेरी नानी ने मुझे बताई है।)
 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates