Wednesday, March 4, 2009

एक कहावत बिहार की

मरला पूत के भर -भर आँख ।
यानि की जो व्यक्ति इस दुनिया से चला गया हो हम उसका गुन- गान करते है उसके बारे में उसकी बड़ाई करते है ,और (बे) मतलब के आसू उसके लिए बहते है । जब वही व्यक्ति जिन्दा रहता है तो हम उसकी परवाह भी नही करते और जम कर उसकी बुराई करते हो ।

0 विचार आए:

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates