Wednesday, January 7, 2009

एक कहावत बिहार की

नया नौ दिन , पुराना सौ दिन
इसे आप इस सन्दर्भ में ले सकते है कि ओल्ड इस गोल्ड "। नए विचारो, कवियों के सन्दर्भ में भी बात कही जा सकती है कि पुराने कवि- रहीम ,तुलसी , कबीर आज भी प्रासंगिक है जबकि नए कवियों कि फसल कब आती है कब जाती है कुछ पता ही नही चलता।

1 विचार आए:

Amit said...

baut sahi kaha aapne...

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates