Thursday, July 29, 2010

बामुन  कुत्ता  नाऊ  जात देख गुर्राऊ !!!


भावार्थ :- ब्राह्मण  कुत्ता और नाई  अपनी जाति के लोगों से  स्वाभाविक इर्ष्या करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि स्वजातीय उनका हिस्सा ना ले ले !!!!

1 विचार आए:

अभिषेक मिश्र said...

सारगर्भित कहावत.

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates