Saturday, September 26, 2009

एक कहावत

बन्दर क्या जाने अदरक का स्वाद

यानि गलत पात्र से (बन्दर से ) किसी सही चीज (अदरक ) का मूल्यांकन नहीं करना चाहिए .
जैसे किसी डाक्टर से किसी कानून की बरीकियो के बारे में राय लेना .

1 विचार आए:

महेन्द्र मिश्र said...

इसमें ये भी जोड़ लीजिये..
जैसे बन्दर के हाथो में उस्तरा

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates