Monday, March 15, 2010

चूल्हे में हगें शनिचर खां खोर दें !
तात्पर्य - अपना दोष दूसरे पर डालना .

3 विचार आए:

शरद कोकास said...

वाह ।

Udan Tashtari said...

यह पहली बार सुनी..आभार!

निर्मला कपिला said...

मैने भी पहली बार सुना। धन्यवाद्

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates