Monday, July 21, 2008

फूहर का कमाल

फूहर चाले,

सब घर हाले

=======================================================
फूहर = फूहड़ (इसका तात्पर्य यहाँ ऐसे व्यक्ति से है जो बिना सोचे समझे काम करता है)

चाले = चलना

हाले = हिलना

======================================================

अर्थात ऐसे व्यक्ति के कारनामों से पूरा घर परेशां होता है जो बिना सोचे समझे काम करता है। इन कामों में बुरे काम भी शामिल किए जा सकते हैं।

1 विचार आए:

Udan Tashtari said...

बहुत दिनों बाद सुनने में आई यह कहावत. आभार.

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates