Tuesday, June 8, 2010

 जाकी छाती जमे न बार , उनसे रहना तुम हुशियार !!
तात्पर्य -- जिस आदमी के सीने में बाल नहीं होते उससे सावधान रहना चाहिए क्योंकि वह आदमी कठोर ह्रदय वाला क्रोधी कपटी कुटिल और चालक होता है 

5 विचार आए:

माधव said...

VERY GOOD MASSAGEW

आचार्य जी said...

आईये जानें ....मानव धर्म क्या है।

आचार्य जी

दिलीप said...

badhiya vichaar

सिद्धार्थ जोशी Sidharth Joshi said...

बिना बाल का कहने के साथ ही मुझे शाहरुख खान याद आ जाता है। कई लोगों के हैरीडिटीकली भी यह प्रॉब्‍लम होती है....

imnindian said...

haa ye baat meri maa bhi kaah karti thi....n i agree wth sid ji that mujeh bhi shaahrukh ki yaad aati hai...

 

मेरे अंचल की कहावतें © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates